04 पड़ाव गाँव काँसोटीखेड़ा

16 May 2017 to 17 May 2017

नमस्कार साथियों,

आज फिर से आपके सामने लेकर आए हैं SBGBT के चौथे पड़ाव की कहानी गाँव काँसौटी खेडा बाडी से।

काँसौटी खेडा बाडी तहसील से दक्षिण की ओर महज 2 किमी दूरी पर अवस्थित विशाल गाँव है, जातिगत विषमता से परे यहाँ सभी समुदाय के लोग एकता और प्रेमपूर्वक रहते हैं।
400 परिवार वाले इस गाँव की कुल आबादी 2500 के लगभग है। जिसमें कर्मचारियों की अनुमानित संख्या 270 है।
गाँव के ही बुजुर्ग प्रबुद्घजन श्री पीतम बाबा ने बताया, कि गाँव में लम्बे समय से निर्मित ग्राम विकास समिति गाँव हित में निरंतर यथोचित कार्य कर रही है। फिर भी गाँव की मौलिक समस्याओं से निजात मिल पाना बेहद मुश्किल काम है।

मीटिंग के दौरान इस गाँव की जो समस्याएं दृष्टिगत हुईं, वह इस प्रकार से हैं-

1 नाली विहीन, अतिक्रमणयुक्त और बेहद संकरे रास्ते।

2 व्यसनों का बढता प्रकोप।

3 गाँव में जल निकासी के उचित प्रबंध ना होने के कारण हमेशा कीच और गंदे जल से युक्त आम रास्ते।

4 गाँव में बेहतर शिक्षा और संसाधनों की व्यवस्था ना होने से गाँव के बच्चों को रोज पैदल ही लंबी दूरी तय करके पढने के लिए बाडी आना पडता है, जिसके चलते उनका काफी समय ख़राब हो जाता है।

मीटिंग के कुछ ही समय पश्चात गाँव में आमूल-चूल परिवर्तन हुए, जैसे-

1 सर्वप्रथम गाँव के रास्तों को अतिक्रमण मुक्त किया गया।

2 गाँव के सभी लोगों ने होली की छुट्टियों में एकजुट होकर सुनियोजित और जबरदस्त तरीके से सफाई अभियान चलाया, जो बेहद चर्चित और सराहनीय पहल रही।

3 युवाओं द्वारा लोगों में स्वच्छता और जनचेतना हेतु बच्चों के साथ मिलकर संदेश भरी तख्तियों के साथ रेलियां निकाली गयीं।
जिसके फलस्वरूप आज गाँव के आम रास्ते कीचड़ और अतिक्रमणमुक्त हो गए हैं।

4 युवाओं में गाँव के बेहतर विकास और उन्नति के लिए जबरदस्त उत्साह और आशा के भाव पैदा हुए हैं। साथ ही लोगों में मिलकर कार्य करने की अभूतपूर्व सोच पैदा हुई है।

दोस्तों, इस तरह के धरातलीय परिवर्तन SBGBT के लिए बेहद गौरव और हर्ष की बात है। हमारे द्वारा जनहित में किया गया अंशमात्र का सहयोग भी अमर हो जाता है, इस बात को आज काँसौटी खेडा गाँव के लोगों ने चरितार्थ करके दिखाया है।

SBGBT के जनहितैषी कार्य जनसहभागिता के माध्यम से इसी तरह आगे बढते रहेंगे। इसी आशा और विश्वास के साथ आप सभी का धन्यवाद।

अगले 5 वें पड़ाव गाँव कछपुरा की कहानी शीघ्र ही आपके समक्ष प्रस्तुत की जाएगी, तब तक लिए पुनः आप सभी का हार्दिक आभार और मंगलकामनाएं।