ज़िंदगी को ऐसे जिया कि लोगों के लिए प्रेरणा बन गई

महान कर्मयोगी, सादगी, समर्पण और ईमानदारी के प्रति मूर्ति श्री मनोहर परिकर सहाब आप लाखों लोगों को हमेशा प्रेरणा देते रहेंगे। आप जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में लोगों के आदर्श और प्रेरणास्रोत बनकर मानस पटल पर अमर रहेंगे। असाध्य और पीड़ादायक बीमारी से लड़ते हुए भी अंतिम समय तक आप हमसे पूछते रहे हैं "How is the Josh"। ऐसे महान व्यक्तित्व को नमन! नमन! नमन!